Sell Your Products Online

Get your Business eCommerce Website
Easy to manage products online

नौकरी तलाशने वालों के लिए अच्छी खबर, भारतीय रोजगार बाजार में 10 फीसदी की बढ़ोतरी

नौकरी तलाशने वालों के लिए अच्छी खबर, भारतीय रोजगार बाजार में 10 फीसदी की बढ़ोतरी

नौकरी डॉट कॉम एक ऑनलाइन भर्ती प्लेटफार्म है, जो कंपनियों, प्लेसमेंट एजेंसियों और उम्मीदवारों को भर्ती संबंधी सेवाएं प्रदान करता है.

भारतीय रोजगार बाजार में साल 2017 के दिसंबर में पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 10 फीसदी की तेजी देखी गई. नौकरी डॉट कॉम की एक रपट से सोमवार (15 जनवरी) को यह जानकारी मिली. नौकरी डॉट कॉम के मुख्य विपणन अधिकारी वी. सुरेश ने कहा, “नौकरी बाजार नवंबर में प्राप्त गति को बनाए हुए है. नौकरी डॉट कॉम जॉबस्पीक सूचकांक में नौकरियों में दिसंबर में साल-दर-साल आधार पर 10 फीसदी वृद्धि दर्ज की गई. गैर-कृषि क्षेत्रों जैसे औद्योगिक उत्पादों, विनिर्माण, इंजीनियरिंग, वाहन और बीएफएसआई (बैंकिंग, वित्तीय सेवाएं और बीमा) में पिछले कुछ महीनों से नौकरियों में सबसे ज्यादा वृद्धि देखी जा रही है.”

उन्होंने हालांकि कहा कि आनेवाले महीनों में रोजगार बाजार में उतार-चढ़ाव हो सकता है. रपट में कहा गया है कि साल-दर-साल आधार पर दिसंबर में विनिर्माण क्षेत्र में 31 फीसदी और बीमा क्षेत्र में 21 फीसदी वृद्धि दर रही. बैकिंग और वित्तीय सेवाओं के क्षेत्र में दिसंबर में चार फीसदी वृद्धि दर्ज की गई. इसी अवधि में बीपीओ क्षेत्र में नौकरियों में आठ फीसदी वृद्धि दर्ज की गई, जबकि आईटी और सॉफ्टवेयर क्षेत्र में नौकरियों में दो फीसदी वृद्धि दर्ज की गई.

रपट में कहा गया है कि प्रमुख उद्योगों जैसे उत्पादन और रखरखाव, वाहन क्षेत्र में नौकरियों में दिसंबर में 2016 के इसी महीने की तुलना में क्रमश: 42 फीसदी और 31 फीसदी वृद्धि दर्ज की गई. नौकरी डॉट कॉम एक ऑनलाइन भर्ती प्लेटफॉर्म है, जो कंपनियों, प्लेसमेंट एजेंसियों और उम्मीदवारों को भर्ती संबंधी सेवाएं प्रदान करता है.

वहीं दूसरी ओर दिसंबर में थोक महंगाई तीन महीने में सबसे कम रही. खाने-पीने की चीजें सस्ती होने से थोक महंगाई दर दिसंबर 2017 में 3.58 फीसदी रही. नवंबर में यह आंकड़ा 3.93 फीसदी पर था, जबकि दिसंबर 2016 में थोक महंगाई 2.10 फीसदी पर थी. हालांकि, इस दौरान फ्यूल की कीमतों में तेजी देखने को मिली है. पिछले हफ्ते जारी रिटेल महंगाई के आंकड़े देखें तो यह रिजर्व बैंक के कम्‍फर्ट लेवल से ऊपर जा चुकी है. दिसंबर 2017 में रिटेल महंगाई 5.21 फीसदी पर पहुंच गई. रिटेल महंगाई में तेजी फूड आर्टिकल्‍स खासकर सब्जियों की खुदरा कीमतों में तेजी के चलते आई थी. रिजर्व बैंक पॉलिसी दरों पर फैसला करते समय रिटेल महंगाई को ध्‍यान में रखता है.

सब्जियों की महंगाई घटी, प्‍याज महंगा
सोमवार को जारी WPI आंकड़ों के अनुसार, खाने-पीने की चीजों की महंगाई दिसंबर में गिरकर 4.72 फीसदी पर आ गई, जो नवंबर में 6.06 फीसदी पर थी. सब्जियों की महंगाई दिसंबर में 56.46 फीसदी रही, जबकि नवंबर में यह 59.80 फीसदी पर दर्ज की गई थी. हालांकि, प्‍याज की कीमतों में तेजी देखने को मिली. प्‍याज की थोक महंगाई 197.05 फीसदी पर पहुंच गई, नवंबर में यह 178.19 पर थी. फूड आर्टिकल्‍स की हिस्‍सेदारी 15.26 फीसदी और प्राइमरी आर्टिकल्‍स की हिस्‍सेदारी 22.62 फीसदी है.

Leave a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


0 Comments