Sell Your Products Online

Get your Business eCommerce Website
Easy to manage products online

सेविंग से जुड़ी ये 5 बातें रखें ध्यान, पैसे बचाने में मिलेगी मदद

सेविंग से जुड़ी ये 5 बातें रखें ध्यान, पैसे बचाने में मिलेगी मदद

ज्‍यादातर लोगों की शिकायत होती है कि रूम रेंट, घर का खर्च, बच्‍चे की पढ़ाई के बाद बचत नहीं हो पाती है. इस तरह की शिकायतों की लिस्‍ट काफी लम्‍बी हो सकती है, लेकिन बचत न करना करना इसका हल नहीं हो सकता है.

जीवन में छोटी-छोटी बचत भविष्य का सहारा होती है, इसलिए बचत को अपनी आदत में शुमार करें. यह न सिर्फ आपके बुरे वक्‍त में काम आती है, बल्कि जरूरत के समय आपकी राह को आसान भी बना देती है. बचत के लिए न तो ज्‍यादा दिक्‍कत का सामना करना पड़ता है और न ही कोई खास मेहनत ही करनी पड़ती है. बस जरूरत है बचत को अपनी आदत बनाने की. महिला हो या पुरुष, जीवन में अपने लक्ष्‍य को पाने के लिए बचत करना बहुत जरूरी है. ज्‍यादतर लोगों की शिकायत होती है कि रूम रेंट, घर का खर्च, बच्‍चे की पढ़ाई के बाद बचत नहीं हो पाती है. इस तरह की शिकायतों की लिस्‍ट काफी लम्‍बी हो सकती है, लेकिन बचत न करना करना इसका हल नहीं हो सकता है.

हम आपको बचत के 5 ऐसे तरीके बता रहे हैं जिनसे आपको बचत करने में मदद मिलेगी.

1- कैसे करें हर महीने बचत
बचत की शुरुआत करने से पहले यह जानना बहुत जरूरी है कि बचत करने में हम कहां छोटी-छोटी गलतियां करते हैं. हम में ज्‍यादातर लोग खर्च के बाद जो रकम शेष होती है उसकी बचत करना चाहते हैं, लेकिन यह बचत करने का बेहतर तरीक नहीं माना जाता है और इसमें बचत की संभावना कम होती है. इसके अलावा भविष्‍य के खर्चों का वर्तमान में आकलन कर बचत करने में भी असफल होने की संभावना बहुत अधिक होती है. बचत का सबसे बेहतर तरीका है वर्तमान और भविष्‍य की जरूरत को आंकते हुए बचत करना. यह वर्तमान खर्च और भविष्य में बचत को विभाजित करने में मदद करता है.

2- अपना लक्ष्‍य तय करें
बचत करने से पहले अपने गोल को लिखें. इसके बाद इसको पूरा करने में आने वाले खर्च का आकलन करें और समझें कि आपको पैसे की जरूरत कब होगी. इसको आप अपने साल के कैलेंडर में शामिल कर लें. यह सरल प्रक्रिया आपको बचत करने का एक खाका प्रस्‍तुत कर देगी.

3- प्राथमिकता को तय करें
हर किसी की ढ़ेरों आवश्‍यकताएं होती हैं और इसको पूरा करने के लिए बहुत सारे पैसे की जरूरत होती है. अमूमन हर किसी के पास आय कम और खर्च अधिक होता है. ऐसी स्थिति में अपने खर्चे और जरूरत में से प्राथमिकता तय करें. ऐसा करने से बहुत सारे ऐसे खर्चे होते हैं, जिनको आप आसानी से कम कर सकते हैं. ऐसा कर के हमेशा छोट अवधि और लम्‍बी अवधि के लिए बचत करें.

4- छोटी बचत योजना
आमतौर पर हम-आप आसानी से अपनी आय का 10 से 25 फीसदी तक बचत कर सकते हैं. हालांकि, यह कोई तय नहीं है कि आप इसी के बीच में बचत करें. बचत में जब आप अपना लक्ष्‍य कर लेते हैं तो आप उसी के अनुरूप बचत करते हैं. जैसे कि आप अपने बच्‍चों की पढ़ाई के लिए 5 लाख रुपए की बचत करना चाहते हैं तो यह ध्‍यान रखें कि आप वर्तमान में 5 लाख रुपए की बचत करने के बारे में सोच रहे हैं. यह 10 सालों के बाद 10 लाख रुपए भी हो सकता है. अपनी बचत की प्‍लानिंग इसी के अनुरूप करें.

5- बचत पर रिटर्न
बचत और निवेश के बीच अंतर को जानना जरूरी है. बचत आपातकालीन खर्चों और भविष्‍य में किए जाने वाले खर्चों के लिए किया जाता है. वहीं, निवेश इसलिए करते हैं, ताकि कुल आय में वृद्धि और दीर्घकालीन लक्ष्‍यों की पूर्ति की जा सके. निवेश करने से पहले अपने लक्ष्‍यों को भली-भांति निर्धारित कर लें. इसके बाद फंडो की जानकारी, निवेश की पूंजी, जोखिम और नुकसान का आकलन कर लें. ध्‍यान रखें कि परिवार के लिए आर्थिक रूप से सुरक्षित भविष्‍य तैयार करना ही आपका लक्ष्‍य है. आपकी बचत का अंतिम उद्देश्‍य यही होना चाहिए. बचत को जीवन का एक तरीका बना लें.

Leave a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


0 Comments