SBI की चेतावनी, इस छोटी सी गलती से हैक हो सकता है आपका अकाउंट

SBI की चेतावनी, इस छोटी सी गलती से हैक हो सकता है आपका अकाउंट

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने ग्राहकों के लिए एक चेतावनी जारी की है. बैंक की तरफ से चेतावनी में बताया गया है कि आपकी छोटी सी गलती से हैकर आपके खाते में सेंध लगा सकता है.

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने ग्राहकों के लिए एक चेतावनी जारी की है. बैंक की तरफ से चेतावनी में बताया गया है कि आपकी छोटी सी गलती से हैकर आपके खाते में सेंध लगा सकता है. बैंक ने अपने 17 करोड़ डेबिट कार्ड होल्‍डर्स को इस चेतावनी के जरिए आगाह करते हुए कहा है कि वे अपनी मां का सरनेम किसी के साथ शेयर न करें. इसका कारण यह है कि जब यूजर अपने डेबिट कार्ड का पासवर्ड रीसेट करता है तो उससे सिक्युरिटी क्वेंचन में मां का सरनेम या आपका पेट नेम पूछा जाता है.

समय-समय पर दी जाती है चेतावनी
बैंक की तरफ से कहा गया है ऐसे में यदि आप अपना पेट नेम या मां का सर नेम किसी के साथ शेयर करते हैं तो यह आपके लिए खतरनाक हो सकता है और हैकर्स आपके बैंक अकाउंट में सेंध लगा सकते हैं. इससे पहले भी बैंक की तरफ से अपने ग्राहकों को जागरूक करने के लिए मैसेज के जरिए समय-समय पर चेतावनी की जाती है. इन मैसेज में ग्राहकों से अपनी पर्सनल डिटेल किसी के साथ शेयर करने से साफ मना किया जाता है.

स्‍ट्रॉग पॉसवर्ड हो
साथ ही बैंक की तरफ से इंटरनेट बैंकिंग की यूजर आईडी और पासवर्ड को हमेशा गोपनीय रखने के लिए कहा जाता है. आपको हमेशा स्‍ट्रॉग पासवर्ड बनाना चाहिए. जिसमें स्पेशल करेक्टर हो. आमतौर पर लोग ऐसा पासवर्ड बना लेते हैं जिसे याद रखने में सहूलियत हो. लेकिन इससे अकाउंट हैक होने का खतरा बढ़ जाता है. इसका कारण यह है कि सरल पासवर्ड साइबर क्राम करने वाले आसानी से क्रैक कर लेते हैं. यह भी जरूरी है कि आप समय- समय पर अपना पासवर्ड बदलते रहें.

बैंक फ्रॉड में गंवाए 17 हजार करोड़
वित्त वर्ष 2016-17 में बैंकों ने फ्रॉड के मामलों में लगभग 17,000 करोड़ रुपए गंवाए हैं. केंद्रीय वित्‍त राज्‍य मंत्री शिवप्रताप शुक्‍ला ने हाल में लोकसभा में यह जानकारी दी थी. वित्‍त मंत्रालय ने रिजर्व बैंक की फ्रॉड मॉनीटरिंग कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर यह जानकारी दी है.

Leave a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


0 Comments