दावोस पहुंचे पीएम मोदी, विश्व समुदाय के साथ भारत के रिश्तों पर रखेंगे नजरिया

दावोस पहुंचे पीएम मोदी, विश्व समुदाय के साथ भारत के रिश्तों पर रखेंगे नजरिया

पीएम नरेंद्र मोदी करीब 21 साल बाद दावोस जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री है. उनसे पहले 1997 में एच डी देवेगौड़ा दावोस गए थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की सालाना बैठक में भाग लेने के लिए सोमवार (22 जनवरी) को यहां पहुंच गए. वह 23 जनवरी की बैठक में अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ भारत की भविष्य की गतिविधियों पर अपना ‘विजन’ पेश करेंगे. वह मंगलवार (23 जनवरी) को सम्मेलन में पूर्ण सत्र को संबोधित करेंगे. स्वीडन के प्रधानमंत्री स्टीफन लोफवेन के साथ द्विपक्षीय बैठक करने का भी मोदी का कार्यक्रम है. पीएम नरेंद्र मोदी करीब 21 साल बाद दावोस जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री है. उनसे पहले 1997 में एच डी देवेगौड़ा दावोस गए थे.

पीएम मोदी के भाषण से शुरू होगी बैठक
इस वर्ष विश्व आर्थिक मंच की बैठक का विषय है ‘विभाजित दुनिया में साझा भविष्य का निर्माण’. इसका मतलब है कि चर्चा इस बात पर होगी कि दुनिया भले ही देशों में बंटी हुई है लेकिन सभी देश, कैसे एक साथ अपने भविष्य को अच्छा बना सकते हैं ? भारत के लिए गर्व की बात ये है कि दावोस बैठक की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण से होगी. और 26 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भाषण के साथ ये बैठक समाप्त हो जाएगी.

70 देशों के राष्ट्र अध्यक्ष हो रहे हैं शामिल
दावोस में इस बार 70 देशों के राष्ट्र अध्यक्ष शामिल हो रहे हैं. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा इस बैठक में फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मानुएल मैक्रोन, जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्कल, और ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे भी शामिल होंगी. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी इस बैठक मे शामिल होंगे. इससे पहले सन 2000 में अमेरिका के राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने दावोस की बैठक में हिस्सा लिया था. यानी 17 वर्षों के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति इस फोरम में शामिल होंगे.

दुनिया की शीर्ष कंपनियों के कुल 2,000 सीईओ भी लेंगे हिस्सा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक बड़ा प्रतिनिधिमंडल इस कार्यक्रम में हिस्सा लेगा. इसमें कुछ केंद्रीय मंत्रियों और मुख्यमंत्रियों के साथ 100 बिजनेस लीडर भी शामिल हैं. दावोस में सबसे बड़ा, 780 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल अमेरिका का है. विश्व आर्थिक मंच की बैठक में ब्रिटेन के 266 प्रतिनिधि, स्विट्जरलैंड के 233 प्रतिनिधि, भारत के 129 प्रतिनिधि, और चीन के 118 प्रतिनिधि शामिल होंगे. दुनिया की शीर्ष कंपनियों के कुल 2,000 सीईओ… विश्व आर्थिक मंच की बैठकों में हिस्सा लेंगे.

दावोस में अगले सप्ताह विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी के साथ द्विपक्षीय बैठक का कोई विचार नहीं है. विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार (19 जनवरी) को यह जानकारी दी थी. डब्ल्यूईएफ की वार्षिक बैठक 22 जनवरी को शुरू हो रही है. विदेश मंत्रालय में आर्थिक संबंध सचिव विजय गोखले ने नई दिल्ली में संवाददाताओं से कहा कि जहां तक मुझे पता है, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के साथ बैठक की कोई योजना नहीं है.

उनसे पूछा गया था कि क्या मोदी की पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के साथ बैठक की कोई योजना है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भी उसी दिन डब्ल्यूईएफ में होंगे. यह पूछे जाने पर कि क्या मोदी की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ बैठक की योजना है, गोखले ने कहा कि दोनों नेताओं के प्रवास का समय वहां एक साथ नहीं है.

Leave a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


0 Comments