पेट्रोल के दाम 80 रुपए के करीब पहुंचे, डीजल भी 67 रुपए के पार

पेट्रोल के दाम 80 रुपए के करीब पहुंचे, डीजल भी 67 रुपए के पार

दिल्ली में फिलहाल एक लीटर पेट्रोल के लिए 71.06 रुपए में मिल रहा है. वहीं, डीजल के दाम 61.74 रुपए हैं.

देश में पेट्रोल और डीजल के दाम अपनी ऊंचाई पर पहुंच चुके हैं. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगातार बढ़ रही कच्चे तेल की कीमतों के चलते पेट्रोल-डीजल की कीमतें भी आसमान छू रही हैं. देश के कुछ हिस्सों में डीजल 67 रुपए के पार पहुंच गया है. वहीं, पेट्रोल भी 80 रुपए के पास पहुंच चुका है. मुंबई में सोमवार को पेट्रोल का दाम एक बार फिर 80 के करीब पहुंच गया. सोमवार को हैदराबाद में डीजल 67.08 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है. केरल के त्रिवेंद्रम में भी डीजल की कीमतें 67.05 रुपए प्रति लीटर पहुंच चुकी हैं. वहीं, पेट्रोल की बात करें तो मुंबई में यह 79.06 रुपए प्रति लीटर के स्तर पर पहुंच चुका है. दिल्ली में फिलहाल एक लीटर पेट्रोल के लिए 71.06 रुपए में मिल रहा है. वहीं, डीजल के दाम 61.74 रुपए हैं.

कच्चे तेल में उछाल से बढ़े दाम
कच्चे तेल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी से पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर असर पड़ा है. निकट भविष्य में दामों के कम होने की उम्मीद कम है. पेट्रोल की कीमतें अक्टूबर के स्तर पर पहुंच गई हैं. केंद्र सरकार ने 80 रुपए प्रति लीटर पर पहुंचने के बाद पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाई थी. हालांकि, इसके बाद भी संकट खत्म नहीं हुआ है.

ऐसे सस्ता हो सकता है पेट्रोल-डीजल
पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की बात लंबे समय से चल रही है. सरकार ने संकेत दिए हैं कि पेट्रोल-डीजल को इसके दायरे में लगाया जाएगा. सबकी निगाहें जीएसटी काउंसिल की 18 जनवरी को होने वाली साल की पहली बैठक पर टिकी हैं. उम्मीद है कि काउंसिल इस मामले में अहम फैसला ले सकती है. अगर इस पर मुहर लगती है तो पेट्रोल और डीजल काफी सस्ता हो सकता है.

क्यों सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल
जीएसटी काउंसिल अगर पेट्रोल-डीजल पर 28 फीसदी जीएसटी लगाती है तो भी आम आदमी तक पेट्रोल और डीजल 50 रुपए से कम में पड़ेगा. इससे कच्चे तेल की लगातार बढ़ रही कीमतों से काफी राहत मिलेगी. वहीं, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से परेशान आम आदमी को राहत देने के लिए केंद्र सरकार ने एक बार फिर से राज्यों से अपील की है कि वो अपने यहां वैट की दरों को कम करें.

66 डॉलर के पार कच्चा तेल
इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की कीमतों में आग लग गई है. ब्रेंट क्रूड 66 डॉलर प्रति बैरल के पार चला गया है, जिसकी आंच देश में भी दिखने लगी है. देश में पेट्रोल-डीजल के दाम अक्टूबर के बाद अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गए हैं. कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों से रसोई गैस के दाम भी बढ़ने की संभावना बन गई है.

Leave a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


0 Comments